संपादकीय:Editorials (English & Hindi) Daily Updated

Category: हिंदी संपादकीय

भारी गलती है यह ट्रेड वॉर (प्रभात खबर)

इस वर्ष के प्रारंभ में दावोस में दिये अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने व्यापार संरक्षणवाद को तीन प्रमुख वैश्विक चुनौतियों में एक बताया. दरअसल, इसे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा प्रतिपादित तथा अब क्रियान्वित व्यापार नीति से जोड़कर देखा जा रहा है. हाल ही में एल्युमिनियम तथा स्टील के आयात पर उनके द्वारा थोपा […]

कलम के कातिल (जनसत्ता)

एक ही रोज, सोमवार को दो पत्रकारों की हत्या हुई, एक बिहार में और एक मध्यप्रदेश में। स्तब्ध कर देने वाली ये दोनों घटनाएं इसी तरफ इशारा करती हैं कि पत्रकारों के लिए ईमानदारी से अपना काम करना किस हद तक जोखिम-भरा हो गया है। मध्यप्रदेश के भिंड में एक टीवी पत्रकार को रेत ढोने […]

चीन से कारोबार में संतुलन की चाह – डॉ. जयंतीलाल भंडारी (नईदुनिया)

विगत सोमवार को नई दिल्ली में आयोजित भारत-चीन के मध्य संयुक्त आर्थिक समूह की बैठक से कई अहम तथ्य निकलकर सामने आए। इस बैठक में भारत के वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु व उनके चीनी समकक्ष झोंग शैन के साथ दोनों देशों के उच्च अधिकारियों ने भी शिरकत की, जिसमें द्विपक्षीय व्यापार बढ़ाने तथा चीन के […]

न्‍यूनतम समर्थन मूल्य का वादा (नईदुनिया)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात के माध्यम से किसानों को कृषि उपज की लागत का डेढ़ गुना एमएसपी अर्थात न्यूनतम समर्थन मूल्य का भरोसा दिलाने के बाद यह आवश्यक हो जाता है कि इस संदर्भ में कोई ठोस रूपरेखा भी सामने आए। इसकी जरूरत इसलिए और भी ज्यादा […]

“अपने घर” की ओर लौटती दुनिया – महेंद्र वेद (नईदुनिया)

कुछ दिन पूर्व जब रूस में हुए चुनाव में व्लादिमीर पुतिन को चौथी बार राष्ट्रपति चुन लिया गया, तो इस पर किसी को ज्यादा हैरत नहीं हुई और न ही इस खबर ने दुनियाभर में ज्यादा सुर्खियां बटोरीं। दरअसल, उनकी जीत तो प्रत्याशित ही थी। इस जीत से पुतिन रूस में जोसेफ स्टालिन के बाद […]

कलम के कातिल (जनसत्ता)

एक ही रोज, सोमवार को दो पत्रकारों की हत्या हुई, एक बिहार में और एक मध्यप्रदेश में। स्तब्ध कर देने वाली ये दोनों घटनाएं इसी तरफ इशारा करती हैं कि पत्रकारों के लिए ईमानदारी से अपना काम करना किस हद तक जोखिम-भरा हो गया है। मध्यप्रदेश के भिंड में एक टीवी पत्रकार को रेत ढोने […]

सुनवाई से आस (जनसत्ता)

तलाक-ए-बिद्दत यानी तीन तलाक मामले में अपने फैसले के सात महीने बाद सर्वोच्च न्यायालय अब बहुविवाह और निकाह हलाला की संवैधानिकता पर सुनवाई करने को राजी हो गया है, तो यह पिछले फैसले की ही तार्किक कड़ी है। पिछले साल अगस्त में दिए अपने फैसले में संविधान पीठ ने तीन तलाक प्रथा को गैर-कानूनी ठहराया […]

भारत से संबंध सुधारने संबंधी पाक उच्चायुक्त का ‘खोखला बयान’ (पंजाब केसरी)

इस समय जबकि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव शिखर पर है, भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद ने 23 मार्च को यह आश्चर्यजनक बयान दिया है कि ‘‘भारत सहित दक्षिण एशिया के सभी देशों के साथ पाकिस्तान दोस्ताना और शांतिपूर्ण संबंध चाहता है।’’ ‘‘भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर सहित सभी लंबित मुद्दे […]

होगा ईरान पर अमरीकी हमला? (पत्रिका)

अमरीका, मध्य-पूर्व में जो क्षेत्रीय व्यवस्था कायम करना चाहता है, उससे ईरान को बाहर रहने दो और उसके विषदंत निकाल लो। – सईद नकवी, वरिष्ठ पत्रकार न्यूयॉर्क टाइम्स के संपादकीय पेज के सामने वाले पेज की हेडलाइन ने सब कुछ खोल दिया। ‘मैंने युद्ध के झूठे विकल्प को स्वीकार्य बनाने में एक बार मदद की […]

पंजाब में शिक्षकों को अपनी मांगों को मनवाने के लिए सड़क पर उतरना पड़ा (दैनिक जागरण)

यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पंजाब के शिक्षकों को अपनी मांगों के लिए सड़क पर धरना-प्रदर्शन करना पड़ रहा है। सरकार को इस पर गौर करना चाहिए। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पंजाब में एक बार फिर शिक्षकों को अपनी मांगों को मनवाने के लिए सड़क पर उतरना पड़ा। इससे भी दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि रविवार को […]

संपादकीय:Editorials (English & Hindi) Daily Updated © 2018 Frontier Theme